Tag Archives: hindi stories

Ghamandi Dost ki Hindi Kahani Story

Ghamandi Dost ki Hindi Kahani Story एक घमंडी दोस्त की कहानी एक गांव में 2 दोस्त रहते थे एक का नाम राम था और दूसरे का नाम श्याम था राम बहुत अच्छा और बहुत ही समझदार था लेकिन श्याम सिर्फ घमंडी था इस से राम को कोई फर्क नहीं पड़ता एक दिन राम और श्याम… Read More »

Moral Stories in Hindi

Moral Stories in Hindi बहुत समय पहले की बात है एक ब्राह्मण को कुछ गांव वाले मिलकर उसे एक बकरी दिए और और कहने लगे महाराज इस बकरी को आप ले जाइए यह आपको दूध भी पिल लाएगी और इसके दूध में काफी विटामिन भी होती है ब्राह्मण और बकरी को लेकर जाने लगा जाते-जाते… Read More »

Hindi Moral Stories For Kids

Hindi Moral Stories For Kids एक जंगल में एक चींटी रहते थे जो बिल्कुल अकेली थी वह एक दिन घूमने निकले घूमते घूमते काफी दूर चली गई उसे बहुत तेज प्यास लगी थी और भूख भी लगा था खाने के लिए तो मिल गया परंतु पानी नहीं मिल रहा था पानी की तलाश में वो… Read More »

Story in hindi kids || सोने की अंडा देने वाली मुर्गी

Story in hindi kids सोने की अंडा देने वाली मुर्गी एक गांव में एक बहुत ही गरीब आदमी रहता था वह दिन भर मेहनत करता और अपने परिवार का पेट पाल पाता परंतु वह उसके लिए काफी नहीं था क्योंकि सारा दिन मेहनत करने के बावजूद भी वह अपने परिवार के लिए सिर्फ एक टाइम का… Read More »

Moral Stories in Hindi For Class 9 | जादुई छड़ी

Moral Stories in Hindi For Class 9 | जादुई छड़ी बहुत समय पहले की बात है एक दिन रत में सुलेखा अपने रूम में बयठी थी। उसी समय उसके कमरे की खिडकी पर बिजली चमकी। सुलेखा घबराकर उठ गई। उसने देखा कि खिडकी के पास एक बुढिया औरत हवा मे उड़ रही थी। बुढ़िया खिडकी के… Read More »

Moral Stories in Hindi For Class 8 | दोस्ती

Moral Stories in Hindi For Class 8 | दोस्ती स्टोरी पड़ने से पहले निचे लाल कलर का बेल आएकन होगा उसे दबा दे हम नई नई story लाया करते है बहुत समय पहले की बात है एक सहर में खरगोसनी रहती थी। वह बहुत अच्छी थी और अपने सहर में अच्छे बेवहार से बहुत प्रसिद्ध… Read More »

Short Moral Stories In Hindi | खरगोश की चतुराई

Short Moral Stories In Hindi | खरगोश की चतुराई बहुत समय पहले की बात है एक गांव ढोलकपुर नाम का हुआ करता था उस गांव में बस जानवर ही रहते थे वहां पर एक तालाब था उस तालाब को मौत का तालाब कहा जाता था वहां पर शाम होने के बाद कोई भी पानी पीने… Read More »